सूरत ब्यूरो :  सूरत शहेर से 11 वा ह्रदय का दान अहमदाबाद में किया गया । ब्रेनडेड युवक के परिवार वालो के किए दान से चार व्यक्तिओ को जीवन दान मिला आदिवासी समाज से पहेली बार कोई शरीर का दान किया । किडनी ,लिवर , तथा ह्रदय का दान से चार लोगों को नई जिंदगी प्रदान की गई । सुरत से करीबन 80 मिनट में 277 किलोमीटर दूर अहमदाबाद में धड़कता हृदय ट्रांसप्लांट किया गया ।

बाइक स्लीप हो जाने के कारण युवक हुआ था ब्रेनडेड

29 मई 2017 के दिन नवनीत भाई शाम 5:30 मिनट से 6 बजे के बीच मे वांकल से लवेट खुद के घर वापस आ रहा था । उसी वक्त रेलवे फाटक के पास बाइक स्लीप हो जाने से वह नीचे गिर पड़ा था जिसके उसके में गंभीर चोट लगने की वजह से वह वेहोश हो गया था । आस पास के लोगो ने 108 एम्बुलेंस की मदद से उसे झंखवाव रेफरल अस्पताल में भर्ती किया गया । वहाँ के डॉक्टर ने उनकी हालत गंभीर होने से उनको तात्कालिक सूरत ले जाने की सलाह दी थी । जिससे उन लोगो ने पी पी सवाणी हार्ट इंसीटीयूट एंड मल्टी इश्पेशलिटी अस्पातल में डॉक्टर जे. आर. ठेसिया ने इलाज के लिए भर्ती कराया गया । ठीक करने के लिए सिटी स्क्रेन करते समय दिमाग मे खून जम जाने की वजह से सरलता हुई और उसके बाद क्रेनियोटोमी कर के जमे हुए खून को निकालने के लिए परिवार वालो नई सिविल अस्पताल में सर्जरी विभाग में (एच. ओ. डी) में डॉक्टर निमेष वर्मा का इलाज से भर्ती कर के SICU रेसिडेंट डॉक्टर नीलेश कछाड़िया ने इलाज सुरु किया ।
ऑर्गन डोनेट देने के लिए परिवार वालो दिया सुझाव

गुरुवार 1 जून के दिन न्यूरोसर्जन डॉक्टर मेहुल मोदी न्यूरोफीजिशयन डॉक्टर परेश झंझमेरा और सर्जरी विभाग के रेसिडेंट डॉक्टर नीलेश कछाड़िया ने नवनीत भाई को ब्रेनडेड घोषित किया । डॉक्टर नीलेश कछाड़िया डोनेट लाइफ के हेमंत देसाई को टेलीफोन से संपर्क कर के नवनीत भाई का ब्रेनडेड देने की जानकारी दी । डोनेट लाइफ की टीम अस्पातल पहुच कर नवनीत भाई के पिता श्री बाबू भाई, बाहेन रीता बेन, बुआ वनिता बेन, जिल्ला पंचायत पूर्व प्रमुख हर्षद भाई चौधरी, सरपंच मनोज जेठा भाई वसावा, को ऑर्गन डोनेशन का फायदा समझा कर ऑर्गन डोनेशन की प्रक्रिया समझाया ।