विजयवाड़ा/नई दिल्ली. नोटबंदी का सपोर्ट कर चुके एनडीए के सहयोगी दल तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के चीफ और आंध्र प्रदेश के सीएम एन. चंद्रबाबू नायडू ने अपना रुख बदल लिया है। उनका कहना है कि नोटबंदी के बाद 40 दिन बीत गए हैं, लेकिन अभी तक समस्या खत्म नहीं हुई है। नायडू ने आरबीआई के कामकाज पर भी सवाल उठाया। कहा- ”जिन्हें समस्या सुलझानी थी, वे इसके काबिल नहीं हैं।” अभी भी समस्या खत्म होते नहीं दिख रही…
– मंगलवार को विजयवाड़ा में अपनी पार्टी के सांसदों, विधायकों और नेताओं के बीच उन्होंने कहा कि नोटबंदी से जनता परेशान है। इतने दिन बीत जाने के बाद भी समस्या खत्म नहीं हुई है।
– साथ ही कहा, “हमने नोटबंदी का नहीं सोचा था, पर ये हुआ। कई दिन बीत गए, लेकिन सारी परेशानियां बरकरार हैं। अभी भी समस्या खत्म होते नहीं दिख रही है।”
– बता दें कि चंद्रबाबू नायडू नोटबंदी पर निगरानी रखने वाली 13 मेंबर वाली सेंट्रल कमेटी के चीफ हैं।
‘रोज सिर फोड़ता हूं पर समस्या का हल नहीं खोज पा रहा हूं’
– नायडू ने अपनी पार्टी के नेताओं के बीच कहा कि लोगों को अपनी बुनियादी जरूरत की चीजें खरीदने के लिए नई करंसी नहीं मिल रही। बैंक और एटीएम में रोज कैश की किल्लत देखी जा रही है।
– आंध्र के सीएम ने कहा- ”नोटबंदी के कारण हो रही परेशानियों को कम करने के बारे में मैं रोजाना दो घंटे का वक्त देता हूं। रोज अपना सिर फोड़ता हूं, पर समस्या का समाधान ढूंढने में नाकामयाब हूं।”
नोटबंदी के सपोर्ट में नायडू ने क्या कहा था?
– नायडू ने कहा था कि 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोट बंद किए जाने से हो रही समस्याएं जल्द खत्म हो जाएंगी। लंबे वक्त में इसका फायदा मिलेगा।
– “आंध्र सरकार ने लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए कई नए तरीके अपनाए हैं और यह नकदी रहित लेन-देन के मामले में देश में एक आदर्श राज्य बन गया है।”