उत्तर प्रदेश : सरकार में मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर एक बार फिर अपने बयान को लेकर विवादों में हैं. अपनी ही सरकार पर सवाल उठाने वाले राजभर ने इस बार वोटरों को लुभाने वाले नेताओं के चुनावी हथकंडों पर तंज कसा है.

रविवार को यूपी के बलरामपुर में राजभर ने कहा कि वोटरों को दारू और मुर्गा खिलाने से वोट पक्का माना जाता है. उन्होंने कहा, ‘बाटी-चोखा कच्चा वोट, दारू-मुर्गा पक्का वोट.’ इस जुगलबंदी को राजभर ने तफ्सील से भी समझाया. उन्होंने मंच से गरीबों को संबोधित करते हुए कहा, ‘सारे गरीब दारू पीते हो, मुर्गा खाकर वोट देते हो और ये दिल्ली, लखनऊ जाने वाले नेता 5 साल तुम्हें मुर्गा बनाके घुमाते हैं.’

योगी सरकार के मंत्री होने के बावजूद राजभर अक्सर सार्वजनिक मंचों से बीजेपी पर हमलावर नजर आते रहे हैं. हाल ही में संपन्न हुए निकाय चुनाव में उनकी बगावती सुर सरेआम सुनने को मिले. निकाय चुनाव में भी उन्होंने शराब को लेकर बयान दिए. चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा था कि जो लोग वोट पाने के लिए शराब बांट रहे हैं, उनसे पेटी लेकर रख लो और बाद में कह देना कि शराब से नशा ही नहीं हुआ.

पिछड़ा वर्ग राजभर हाल में ये भी कहा कि जो लोग अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे उन्हें जेल भेजा जाएगा. इसके अलावा भी उनके कई बयान सुर्खियां बन चुके हैं. वो सीधे योगी आदित्यनाथ सरकार भी वार कर चुके हैं. उन्होंने कहा था कि योगी सरकार भ्रष्टाचार पर काबू करने में नाकामयाब रही है.