नई दिल्ली.  पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से पूरा उत्तर भारत कड़ाके की सर्दी की चपेट में है। उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में ठंड और कोहरे की वजह से हुए हादसों में बीते 24 घंटों में 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। राज्य में सबसे सर्द सुल्तानपुर रहा। शनिवार को यहां पारा 2.6 डिग्री पर पहुंच गया। उधर, हरियाणा और पंजाब के ज्यादातर जिलों में भी पारा 2 से 4 डिग्री के बीच रहा। दिल्ली में इस सीजन का सबसे सर्द दिन रहा। सफदरजंग में पारा 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

इलाकामौतबुंदेलखंड 28पूर्वांचल22इलाहाबाद डिवीजन11बरेली डिवीजन3बाराबंकी2

फैजाबाद, अंबेडकर

नगर, रायबरेली,

ऊंचाहार

1-1

हालांकि, प्रशासन इन मौतों की वजह ठंड नहीं बता रहा है। ठंड से मौतों के आरोप लगने के बाद लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने नगर निगम कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी है। एक सरकारी अफसर ने दावा किया कि ठंड से बचाव के लिए हर जिले में जरूरी इंतजाम किए गए हैं।
रेवेन्यू डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी डॉ. रजनीश दुबे ने बताया कि सरकार ने बेसहारा लोगों को कम्बल बांटने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की सर्दी को देखते हुए पशु-पक्षियों के लिए भी खास इंतजाम किए जा रहे हैं। जू में हीटर जलाए जा रहे हैं। उनके बाड़े परदों से ढंके जा रहे हैं।

शहरटेम्परेचर डिग्री सेल्सियससुल्तानपुर2.6कानपुर, लखनऊ4इलाहाबाद-बनारस6.7बरेली5.1

 

चंडीगढ़-दिल्ली में सीजन का सबसे सर्द दिन
चंडीगढ़ और दिल्ली में शनिवार को सीजन का सबसे कम टेम्परेचर रिकॉर्ड किया गया। दिल्ली के सफदरजंग में पारा 4.2 तो चंडीगढ़ में 3 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

शहरटेम्परेचरहिसार, आदमपुर2करनाल, लुधियाना4नारनौल, रोहतक, अमृतसर3

 

हरियाणा में मोबाइल रैन बसेरा

सर्दी के बढ़ते असर को देखते हुए हरियाणा के सभी जिलों में रैन बसरों का इंतजाम किया जा रहा है।  नगरीय निकाय मंत्री कविता जैन के मुताबिक, राज्य में अब तक 103 रैन बसेरा बनाए जा चुके हैं।
उन्होंने बताया कि गुड़गांव, फरीदाबाद, रोहतक, बहादुरगढ़, यमुनानगर, पानीपत, सोनीपत, पंचकुला और कुरूक्षेत्र में रैन बसेरों की बढ़ती मांग को देखते हुए 30 मोबाइल रैन बसरों का इंतजाम किया गया है। इनमें से 17 स्थापित किए जा चुके हैं इनमें कम्बल, गद्दे और रजाई का इंतजाम किया गया है।

 

बिहार में 3 दिन तक रहेगा शीत लहर का असर
वेदर डिपार्टमेंट ने समस्तीपुर समेत उत्तर बिहार में अगले 3 दिन तक शीत लहर का प्रकोप रहने की चेतावनी जारी की है। इस दौरान मिनिमम टेम्परेचर 3 से 5 डिग्री सेल्सियस रहने के आसार हैं।

 

उत्तराखंड के पहाड़ों में बर्फबारी, मैदानी इलाकों में शीतलहर
उत्तराखंड में बीते 5 दिनों से लगातार ठंड का प्रकोप है। वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, बद्रीनाथ और केदारनाथ में लगातार बर्फबारी हो रही है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि केदारनाथ में करीब 8 ईंच बर्फबारी हुई है। इसकी वजह से केदारनाथ में सरकार की ओर से हो रहे डेवलप के काम बंद कर दिए गए हैं।

राज्य में बढ़ती ठंड की वजह से अब तक करीब 8 लोगों की मौत हो गई है। हरिद्वार जिले में 4 लोगों की, जबकि कुमाऊं और देहरादनू में 2-2 लोगों की मौत हुई है। हरिद्वार में 15 जनवरी तक स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है।

 

कश्मीर में रात में सर्दी बढ़ी, दिन में कुछ राहत
– कश्मीर घाटी और लद्दाख इलाके के ज्यदातर हिस्सो में रात का टेम्परेचर नॉर्मल से कई प्वाइंट्स नीचे चला गया है।
घाटी में दिन के वक्त हल्की धूप खिलने से टेम्परेचर में मामूली सुधार देखा गया। हालांकि, यहां बर्फीली हवाएं जारी है।
गुलमर्ग में वर्ल्ड फेमस स्की रिसॉर्ट सबसे ठंडा रहा। यहां मिनिमम टेम्परेचर माइनस 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
उधर, लद्दाख इलाके के लेह में सबसे ज्यादा ठंड रही। यहां मिनिमम टेम्परेचर माइनस 15.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शुक्रवार की तुलना में यह 5 डिग्री कम था।

गुलमर्ग के स्की स्लोप्स कई फीट बर्फ से ढक गए हैं। शुक्रवार को यहां मिनिमम टेम्परेचर माइनस 9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

इनके अलावा श्रीनगर में शनिवार को पारा माइनस 1 और जम्मू में 5 डिग्री पर जा पहुंचा।

 

हिमाचल में कहां कितना टेम्परेचर?

शहरटेम्परेचरशिमला1मनाली-4कल्पा-5ऊना, मंडी2धर्मशाला,

दिल्ली में शनिवार को सीजन का सबसे कम टेम्परेचर 4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

केदारनाथ में हो रही बर्फ की वजह से यहां डेवलपमेंट के काम बंद कर दिए गए हैं। -फाइल

उत्तराखंड में पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से मैदानी इलाकों में शीत-लहर चल रही है। -फाइल