बेंगलूरु. मुंबई के कमला मिल जैसा हादसा बेंगलूरु में भी हुआ है। शहर के कलाशीपाल्यम स्थित एक रेस्तरां व बार में सोमवार तड़के लगी आग में जलने से वहां सो रहे पांच कर्मचारियों की मौत हो गई।

पुलिस और दमकल विभाग के कर्मचारियों के मुताबिक कलाशीपाल्यम बाजार के पास स्थित कुम्बार संघ भवन के पहले तल पर स्थित कैलाश बार रेस्तरां से धुंआ निकलते देखकर घटना के बारे में वहां से गुजर रहे लोगों ने रात करीब 2.30 बजे जानकारी दी।

 

जानकारी मिलने के तुरंत बाद मौके पर दमकल और बचाव कर्मचारी पहुंच गए। सुबह आग पर काफी मशक्कत के बाद काबू पा लिया गया। आग बुझने के बाद जब बचाव कर्मी अंदर पहुंचे तो वहां से पांच जले शव बरामद हुए। मृतकों के बारे बताया गया है वे सभी रेस्तरां व बार में ही काम करते थे और रात को वहीं सो गए थे।

 

आग के कारणों के अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।
मृतकों की पहचान तुमकुरु निवासी स्वामी (23), प्रसाद (20), महेश (35) और हासन निवासी मंंजुनाथ (45) और मण्ड्या निवासी कीर्ति (24) के तौर पर हुई है।
रेस्तरां मालिक को खोज रही पुलिस
पुलिस के मुताबिक रेस्तरां का मालिक सूचना दिए जाने के बावजूद मौके पर नहीं पहुंचा।

अब पुलिस उसे तलाश रही है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आग पर काबू पाए जाने के बाद रेस्तरां के मालिक आर वी दयाशंकर को सुबह 4 बजे मोबाइल पर फोन कर मौके पर आने के लिए कहा गया लेकिन न तो वह मौके पर पहुंचा और ना ही उसका मोबाइल फोन भी बंद है। पुलिस ने उसके घर का पता लगाकर वहां टीम भेजी है।

मुंबई की घटना के बाद अग्निशमन विभाग ने शहर के भी कई छत पर चल रहे रेस्तराओं को नोटिस जारी किया था। बेंगलूरु विकास मंत्री के जे जार्ज के आदेश पर पालिका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने छत पर चल रहे (रूफ टॉप) पब, बार एण्ड रेस्तरां पर छापे मारे। अवैध रूप से चल रहे नौ पब बन्द कर नोटिस लगाई गई। कई पब में हुक्का सेवन करते देखा गया।

 

लावेल्ली रोड स्थित एक पब में हुक्का सेवन करने परइस पब के मालिक को पांच लाख रुपए का जुर्माना लगाया और इसे बन्द करने भी निर्देश दिया गया।
महापौर संपतराज ने संवाददाताओं को बताया कि मुंबई की एक होटल में आग लगने के बाद कई लोग हताहत हुए थे।

अग्निशमन बल, नागरिक सुरक्षा, आपात सेवाओं और गृह रक्षक निदेशालय के पुलिस महानिदेशक एमएन रेड्डी ने इस वारदात को गंभीरता से लेकर पालिका के अंतर्गत चल रहे पब और रेस्तरां पर छापे मार कर ग्राहकों की सुरक्षा के लिए किए गए बन्दोबस्त का निरीक्षण किया। कई पब और रेस्तरां में ग्राहकों की सुरक्षा के लिए कोई भी बन्दोबस्त नहीं करने पर कार्रवाई करने के लिए पालिका से सिफारिश की थी।

इसके बाद गत दो दिनों में ४५ से अधिक पब और रेस्तरां पर छापे मारे गए। एक पब या रेस्तरां के लिए अनुमति नहीं ली गई थी। यहां कई अवैध गतिविधियां चल रही थीं। शराब की आपूर्ति के लिए युवतियों का इस्तेमाल किया जा रहा था।

देर रात इन युवतियों को उनके निवास को पहुंचाने के लिए भी किसी तरह की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई थी। छत पर पब और रेस्तरां चलाने पर किसी को पता नहीं चलता था।

इसलिए देर रात तक शराब की बिक्री और आपूर्ति के अलावा लाइव बैण्ड भी चलता था। छत पर चल रहे सभी पब और रेस्तरां को बन्द किया जाएगा। अगर पालिका से लाइसेंस दिया गया है तो इसे रद्द किया जाएगा। पब और रेस्तरां में कार्यरत ९६ युवतियों की रक्षा की गई है। इस मामले में कानूनी कार्रवाई करने के लिए पुलिस आयुक्त टी सुनील कुमार से सिफारिश की गई है। यह सब पुलिस की निगरानी में चलाए जाने का पता चला है। पुलिस की जांच के बाद ही इसका पता चलेगा।