2016 में पूनम टोडी ने परीक्षा दी थी उन्हें इसकी उम्मीद नहीं थी कि वह टॉप कर जाएंगी। पूनम टोडी की मां ने कहा कि हर मां की बेटी मेरी बेटी जैसी हो।

देहरादून : उत्तराखंड में एक ऑटो चालक की बेटी ने उत्तराखंड पीसीएस-जे एग्जाम में टॉप कर अपने पिता का नाम रौशन किया है। देहरादून के धर्मपुर के नेहरू कालोनी की रहने वाली पूनम टोडी ने न केवल पीसीएस-जे परीक्षा पास की बल्कि सर्वाधिक अंक लाकर पूरे प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया। जज बनने के लिए पूनम ने दो बार इंटरव्यू तक दिया लेकिन असफल हो चुकी थी, तीसरे अटैंप में उन्हें यह सफलता हासिल हुई है।

 

2016 में हुआ था एग्जाम

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने बुधवार को न्यायिक सेवा सिविल जज जूनियर डिविजन 2016 परीक्षा का अंतिम परिणाम जारी किया था। इसमें उत्तराखंड के सात और उत्तर प्रदेश के एक परीक्षार्थी को सफलता मिली है।

हर बेटी मेरी बेटी जैसी हो-पूनम की मां

2016 में पूनम टोडी ने परीक्षा दी थी उन्हें इसकी उम्मीद नहीं थी कि वह टॉप कर जाएंगी। परिणाम से खुश उनकी मां लता टोडी ने कहा, ‘मैं चाहती हूं हर बेटी मेरी बेटी जैसी ही अपने मां का नाम रौशन करें। वहीं पूनम के पिता अशोक टोडी ने कहा, ‘मेरी बेटी ने इसके लिए बहुत मेहनत की है।

परिवार चलाने के लिए पूनम के पिता ने छोड़ दी थी पढ़ाई

पूनम के पिता ऑटो ड्राइवर हैं और अपनी बेटी की सफलता पर फूले नहीं समा रहे हैं। अशोक कुमार टोडी पारिवारिक जिम्मेदारियों के चलते 10वीं से आगे नहीं पढ़ पाए। उन्होंने पढ़ाई छोड़कर टिहरी में दुकान चलानी पड़ी थी। लेकिन दुकान नहीं चल पायी । जिसके बाद पारिवारिक जिम्मेदारी पूरा करने के लिए उन्होंने ऑटो चलाना शुरू कर दिया। अशोक कुमार के मुताबिक उनका एक ही सपना था कि अपने चारों बच्चे पढ़ लिखकर कामयाब हो जाए। इस लिए अएशोक टोडी ने बीच में अपनी पढ़ाई छोड़कर परिवार की जिम्मेदार पूरा करने में जुट गए। पूनम ने सरस्वती विद्या मंदिर से सातवीं तक की पढ़ाई करने के बाद 10वीं एमकेपी इंटर कॉलेज और 12वीं डीएवी इंटर कॉलेज से की।