नई दिल्ली। 12 मई को होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं। बीजेपी और कांग्रेस ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे है। इसी बीच बीजेपी के दावों पर बड़ा खुलासा हुआ है। बीजेपी जिस कार्यकर्ता को शहीद बताकर प्रचार कर रहे थे वो आज भी जिंदा है।

कर्नाटक चुनावों में बीजेपी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पांच साल के उनके शासनकाल में ‘जिहादी’ बलों ने उनके पार्टी के 23 कार्यकर्ताओं की हत्या की है। 23 लोगों की लिस्ट में पहला नाम अशोक पुजारी का था। अब अशोक पुजारी ही जिंदा पाया गया है।मीडिया की खबर के मुताबिक उडुपी से बीजेपी सांसद शोभा करंदलाजे ने गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर उन 23 लोगों के नाम भेजे थे जिनकी कर्नाटक में हत्या की गई।

बीजेपी की इस लिस्ट में सबसे पहला नाम अशोक पुजारी का था जिसकी हत्या 20 सितंबर 2015 को हुई थी। लेकिन पुजारी आज भी जिंदा है। पुजारी का गांव उडुपी में है जो मेंगलौर से दो किलोमीटर दूर है।पुजारी ने बताया कि मैं 15 दिन आईसीयू में रहा और उन्होंने सोचा कि मैं मरने वाला हूं लेकिन भगवान का शुक्र है कि मुझे कुछ नहीं हुआ।

उन्होंने बताया कि शोभा करंदलाजे का फोन उनके पास आया था और स्वीकार किया कि गलती से उसका नाम उस लिस्ट में चला गया लेकिन बीजेपी आज भी दावा करती है कि उसके 23 कार्यकर्ताओं की हत्या की गई। कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि दो दर्जन से ज्यादा कर्नाटक में हमारे कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है।ये भी पढ़ें –

आपको बता दें कि कर्नाटक के एक रैली को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि यहां पर आज एक राष्ट्रवादी सरकार की जरूरत है, जो कि राज्य से जेहादी तत्वों का दमन कर सके।