धनौरी:रुड़की से सटे धनौरी में एक ऐसी ‘लुटेरी दुल्हन’ को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जो शादी कर अपने पति का सारा सामान लूटकर भाग जाती थी. महिला अब तक 11 लोगों से शादी कर उन्हें लाखों का चूना लगा चुकी थी. शादी करने के बाद परिवार को लूटकर फरार होने वाली महिला के साथ उसके गैंग के चार सदस्यों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

सिविल लाइंस कोतवाली में पत्रकार वार्ता में एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने मामले का खुलासा किया. बताया कि अशोक कुमार निवासी धनौरी से पुलिस को तहरीर देकर बताया कि हरिद्वार के ज्वालापुर के मोहल्ला कड़च्छ निवासी मुकेश ने कोटद्वार निवासी पूजा उर्फ रीता नाम की युवती से उसकी शादी तय कराई. युवती को गरीब परिवार का बताकर 50 हजार रुपये शादी के लिए उधार लिए. दो अप्रैल को रोशनाबाद कोर्ट में उसकी शादी पूजा के साथ कराई गई. इसमें पूजा के रिश्तेदार बताकर कुछ लोगों को भी शामिल किया गया. शादी की रात ही पूजा सामान समेटकर घर से फरार हो गई.

मुकेश भी कड़च्छ मोहल्ले से फरार हो गया. मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की. पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने हरिद्वार के टिबड़ी इलाके से आरोपी मुकेश उर्फ यादराम पुत्र कृपाल सिंह और उसके पुत्र अरुण निवासी ग्राम कुलचाना थाना चांदपुर बिजनौर, भोपाल पुत्र नत्थू निवासी ग्राम मखवाड़ा थाना कोतवाली बिजनौर, रीता उर्फ पूजा पत्नी पवन निवासी ग्राम झाड़पुर थाना अफजलगढ़, बिजनौर को गिरफ्तार कर लिया. उनके पास से 35 हजार नगद, चांदी का मंगलसूत्र, बिछुवे आदि बरामद किए गए.

एसपी देहात ने बताया कि लुटेरी दुल्हन और उसका गैंग अब तक 11 लोगों को शादी के बाद लूट चुका है. यह घटनाएं यूपी, हरियाणा, राजस्थान आदि में हुई. इन मामलों में मुकदमा दर्ज नहीं हो पाया. पुलिस टीम में थानाध्यक्ष कलियर देवराज शर्मा, एसआई रणजीत सिंह तोमर, एचसीपी एहसान अली, कांस्टेबल अरविंद सिंह, बृजमोहन, सुषमा आदि मौजूद रहे.

ऐसे देते थे घटना को अंजाम

आरोपी मुकेश ऐसे युवकों की तलाश करता था जो शादी करना चाहते थे. वह लड़की को गरीब बताकर शादी की बात कहता था. भोपाल लड़की का पिता और अरुण भाई बनता था. कोर्ट में या किसी मंदिर में शादी के बाद पूजा उर्फ रीता को विदा किया जाता था. शादी की रात ही वह जेवर आदि लेकर फरार हो जाती थी. धनौरी में दो अप्रैल को शादी करने के बाद वह राजस्थान चले गए. वहां उन्होंने ऐसे ही एक व्यक्ति से ठगी की.

दो साल पहले भी की थी ठगी

एसपी देहात ने बताया कि गैंग ने करीब दो साल पहले धनौरी चौकी के तेलीवाला गांव के एश कुमार के साथ भी शादी का झांसा देकर ऐसे ही ठगी की थी. रुपये और जेवरात लेकर वह फरार हो गए.