तमिलनाडु के तूतीकोरिन ज़िले में वेदांता ग्रुप की कंपनी स्टरलाइट कॉपर के ख़िलाफ़ हिंसक प्रदर्शन में 9 लोग मारे गए हैं.

इसमें 40 से ज़्यादा लोग ज़ख़्मी हुए हैं जिनमें कई पत्रकार और कैमरापर्सन भी हैं.

स्टरलाइट फ़ैक्ट्री से निकलने वाले प्रदूषण के ख़िलाफ़ लोग महीनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. मंगलवार को यह प्रदर्शन हिंसक हो गई.

इस दौरान आम लोगों और पुलिस में झड़प हुई. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पुलिस ने गोलीबारी शुरू कर दी और इसी में नौ लोग मारे गए.

स्थानीय लोग इस प्लांट को बंद करने की मांग कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि इस प्लांट से प्रदूषण के कारण सेहत से जुड़ी गंभीर समस्या का संकट खड़ा हो गया है.

इस कंपनी ने हाल ही में शहर में अपनी और यूनिट बढ़ाने की घोषणा की थी. विरोध प्रदर्शन को देखते हुए इस तटीय शहर में भारी पुलिस बलों की तैनाती की गई है. पड़ोसी ज़िले मदुरई और विरुधुनगर से अतिरिक्त पुलिस बलों को बुलाया गया है.

डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने पुलिस की गोलीबारी की कड़ी निंदा की है. राज्य सरकार ने प्रदर्शनकारियों से शांति बरतने की अपील की है और प्लांट के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया है