New Delhi: आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार को नोएडा के असिस्टेट प्रोजेक्ट इंजीनियर बृजपाल चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी की तो अरबों की संपत्ति का खुलासा हुआ।

छापेमारी की कार्रवाई करीब 10 घंटे तक चली। इस दौरान करोड़ों-अरबों की बेनामी और नामी संपत्ति के कागजात सीज किए गए हैं। आयकर विभाग की टीम बृजपाल चौधरी के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में कार्रवाई कर रही है। उसी के चलते गुरुवार को इनकम टैक्स विभाग के 15 अधिकारियों की टीम ने इंजीनियर बृजपाल चौधरी के घर और ठिकानों पर छापे मारी की।

हैरानी की बात है कि टीम को पैसों गिनने के लिए मशीन मंगवाने पड़े। टीम ने सुबह 7 बजे चौधरी के घर पर छापा मारा था और सिर्फ घर में मौजूद कागजात पैसे और गहनों की जांच में 10 घंटे से ज्यादा का वक्त लग गया। उसके घर के बाहर वीआईपी नंबर की मर्सिडीज कार के अलावा कई हार्ड डिस्क और यूपीएस भी विभाग ने जब्त किए हैं। जिनकी जांच चल रही है। घर से कुल मिलाकर 3 लक्जरी गाड़ियां मिली हैं। तीनों के नम्बर 6666 हैं।

इनकम टैक्स विभाग को छापे के दौरान नोएडा में बृजपाल की करोड़ों की 3 कोठियों का पता चला है साथ ही कई कंपनियों में उसके शेयर की जानकारी भी मिली है। घर में छापेमारी के दौरान बृजपाल का पूरा परिवार घर के अंदर ही मौजूद रहा।