उमा-खोडल और पाटीदारों के गीत की डिमांड के साथ ही मचा हंगामा।

 सूरत। यहां वराछा के योगी चौक में महाशिवरात्रि पर एक सामाजिक संस्था द्वारा भजन डायरा का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में कीर्तिदान के भजन शुरू करने के बाद वहां उपस्थित पाटीदारों ने उमा-खोडल और पाटीदारों के भजन गाने की फरमाइश की। उनकी फरमाइश पूरी करने के पहले ही पाटीदार युवाओं ने हंगामा मचा दिया और गद्दे-तकिए, जूते-चप्पल, पानी की बोतलें आदि फेंकना शुरू कर दिया। स्टेज छोड़कर भागे…
 शुरुआत से ही बवाल
 रात में करीब साढ़े 10 बजे कीर्तिदान स्टेज पर आए। उन्होंने शुरुआत गणेश वंदना से की। इसके बाद शिवरात्रि को लेकर शिवभजन गाने की शुरुआत की, परंतु पाटीदार युवकों की तरफ से यह फरमाइश आई कि वे उमा-खोडल और पाटीदारों के भजन गाएं। यह डिमांड नारों और चिट्ठियों के माध्यम से सामने आई। कीर्तिदान ने इस डिमांड को पूरा करने की कोशिश की, पर इसी बीच पाटीदार युवक ने ग्रिल तोड़कर वहां रखे गद्दे-तकिए उछालना शुरू कर दिया। कीर्तिदान इस बीच डायरा अधूरा छोड़कर वहां से चले गए। इसके बाद भी युवा वहां हंगामा मचाते रहे।
 मेसेज वायरल
 पाटीदार युवा इसके बाद भी नहीं रुके। उन्होंने एक मेसेज यह जारी कर दिया कि कीर्तिदान ने पाटीदारों के गीत नहीं गाया, इसलिए उसका विरोध होना चाहिए। यह संदेश वाट्स एप पर वायरल हो गया। इस कार्यक्रम में करीब एक हजार श्रोता शिवभजन सुनने आए थे।