सूरत :
आप की लड्की घर में सभी को पसंद है बस 11 लाख कैश  और सियाज़ डिजल कार नहीं दी तो शादी नहीं हो पायेगी ” यह बात सुन कर आपको लग रहा होगा की यह किसी लालची लड़के के परिवार वाले लड़की के घर वालो से बोल रहे होंगे । बात बिलकुल सही है लेकिन यह लालची परिवार के बारे में जान कर हर कोई दंग रह जायेगा । दहेज़ मांगने वाला शख्स सूरत भाजपा का बड़ा नेता और मनपा के शासक पक्ष का नेता गिरिजा शंकर मिश्रा है । गिरिजा प्रसाद द्वारा दहेज़ की मांग करने वाला यह ऑडियो फिलहल सोशियल मिडिया पर खूब वायरल हो रहा है ।
वर्तमान बेटे की सगाई के 13 दिनों बाद सिर्फ दहेज़ न मिलने के कारण शादी तोड़ने वाला उत्तर भारतीय नेता सुरत के ब्राह्मण समाज में प्रभुत्व रखता है । जिनके ऑडियो के कारण भाजपा शहर सहित प्रदेश लेवल पर चर्चा का विषय बने हुए है । लड़की के पिता से फोन पर बात करते हुए गिरिजा शंकर मिश्र ने कहा कि वह आगामी विधानसभा चुनाव में मेरी टिकिट फाइनल है । लड़की के पिता का आरोप है कि मिश्र ने साथ ही यह भी कहा कि मेरा कद संसद सी.आर पाटिल जितना है । आपको 11 लाख केस और मारुती अर्टिका देनी होगी ।
मुंबई की लडकी के पिता बाताया की एक परिचित द्वारा उनकी लडकी के विवाह का प्रश्ताव लेकर सुरत आया था, दो स्कुल संचालक और मनपा के शासक पक्ष के नेता की जवाबदारी संभाल रहे ब्राम्हण परिवार में लड़की की शादी हो ऐसी हमारी इच्छा भी थी। जिसको लेकर पहेली बार 2 जुलाई के दिन सुरत लड़का देखने आये थे, घर ओर परिवार के साथ बातचीत के बाद दोनो परिवार शादी ले लिए दोनो परिवार सहमति दिखाई थी, उसके बाद 9 जुलाई के दिन उनकी परिवार मुंबई लडकी देखाने आये थे, लड़का ओर लडकी एक दुसरे को पसंद करने के बाद शादी के बाद लड़के ने फ़ेसबूक पर लड़का ओर लडकी की फोटो अप्लोड करने के बाद कहा की मेरे घर लक्ष्मी आ रही है और उसके बाद कोमेन्ट भी किया था ।
लड़की के पिता ने यह भी कहा कि सकभी मानगो को हमने पूरा किया, बावजूद इसके लड़के ने यह कहा कि मेरी पसन्दीदा गाड़ी सियाज़ देना । उसने उसका कोटेशन भी मेसेज किया था और कार का पेमेंट चेक से करवाने को बात भी कही थी । जिस चेक से मनपा का कॉन्ट्रेक्टर कर खरोद कर मुम्बई डिलीवरी करवाएगा । जो तिलक विधि में लड़के को दिया जाना था । लेकिन मांगे बढ़ते गई । सगाई के 13 दिन के बाद दहेज़ की मांगे पूरी न होने के कारण सगाई तोड़ दी गई  । शादी 5 फरवरी को होनी थी । हलाकि वायरल हुई वीडियो को भाजपा के नेता गिरिजा शंकर ने सिरे से नकार दिया है ।