सूरत । ताप्ती वैली इंटरनेशनल स्कूल में  विख्यात सरोद वादक पंडित पार्थो सारोथी को  आमंत्रित करने का अवसर मिला। पार्थो सारोथी भारत के श्रेष्ठ संगीतकारों में से एक है । उन्हें हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत की विरासत का प्रतिक माना जाता है । TVIS ने स्कूल कैम्पस में पंडित पार्थो सारोथी के सरोद वादन कार्यक्रम आयोजन किया था।उनकी प्रस्तुति से श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए थे और शास्त्रीय संगीत सुनने का आनंद उठाया। कार्यक्रम के दौरान श्रोताओं को सरोद समेत अन्य शास्त्रीय संगीत वाद्य और हिन्दुस्तान शास्त्रीय संगीत की जानकारी दी गई ।सरोद पर  उन्होंने ने छेडे राग, सूरो का मिलाप  और परमशांति का शिस्तबद्ध प्रशिक्षण तथा  गंभीर दृष्टिकोण उनके संगीत को असिम  ऊंचाई तक पहुंचाता है।

पंडित पार्थो सारोथी ने विद्यार्थियों को विभिन्न ताल  और लय की जानकारी देते हुए सरोद वादन किया ।उन्होंने हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत और  उसके जीवंत एवं वैभवशाली इतिहास का परिचय और तथ्यों की संक्षिप्त जानकारी दी । आशिष पौल ने तबला पर पंडित पार्थो सारोथी का साथ दिया । दोनों ने मिलकर संगीत के एक मोहक वातावरण का निर्माण किया ।

इस कार्यक्रम का आयोजन सोसायटी फॉर धी प्रमोशन ऑफ इंडियन क्लासिकल म्युजिक एंड कल्चर अमोंग्स्ट यूथ  ( स्पिक मैके – SPIC MACAY) की ओर से किया गया था, जो कि एक गैर राजनीतिक राष्ट्रव्यापी स्वैच्छिक संगठन है और भारतीय शास्त्रीय संगीत, नृत्य, लोककला के कार्यक्रम आयोजित करता है । आज की युवा पीढ़ी को लुप्त हो रही हस्त कला को जोड़े रखने  और जागरूकता फैलाने का कार्य कर रहा है ।