गुजरात नॉनस्टॉप :
गांधीनगर प्रतिनिधि : लोकरक्षक की परीक्षा रद्द होने के कारण उम्मीदवारो को हुई परेशानी तथा तकलीफ और मेहनत, समय और पैसा के विषय पर आज पूर्व मुख्य मंत्री शंकर सिंह वघेला ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पेपर लीक करने में BjP की मास्टरी है । और सरकार इन उम्मीदवारो के जन धन एकाउन्ट में 10 हजार रुपये जमा करवाने चाहिए । सभी परिक्षाथियो को 10 हजार मदद दो, अगर नहीं दिया गया तो उग्र आंदोलन होगा, अगर आंदोलन में कायदा वयवस्था पर ध्यान नहीं दिया तो, इसके अलावा जनवरी 2019 से बेरोजगार युवानो को 5 हजार रूपये हर महीने बढ़ाने का वादा नहीं बल्कि अमलीकरण करो ।

इस मांग को लेकर दूसरी तरफ मुख्य मंत्री विजय रुपाणी ने जाहिरात किया कि यह परीक्षा अब फिर से लिया जायेगा । और सभी उम्मेदवारो को उनके घरों से परीक्षा केंद्र तक आने जाने के लिए “एसटी बस”का किराया राज्य सरकार की और से दिया जायेगा

गौरतलब है कि शंकर सिंह वघेला भाजाप पर पेपर लीक करने की मास्टरी करने का आक्षेप लगाते हुए कहा कि यह परीक्षा डिसेंट्रलाईजेशन किया है । जिसमे उम्मेदारों 200 किलोमीटर दूर केंद्र परीक्षा देने गए थे इसके अलावा इतना कुछ होने के बाद भी गुजरात सरकार की वेवकूफी सामने आई है । भाजाप की इसमें पेपेरलीक करने की मास्टरी है,पहले ऐसी घटनाओ होई है कि पेपेरलीक करने वाले घर से रूपये गिनाने की मशीन मिले ऐसी सरकार है । इस पेपेरलीक होने से उम्मेदवारो का परिवार का भरोसा टूट गया है । परिवार वालो का आशा टूट चुका है । हर साल पेपर लीक होता है, टेंडर होता,करप्शन होता है, और पेपर कम पड़ता है ।