गुजरात नॉनस्टोप : मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बड़ी सफलता हासिल हुई है। राज्‍य में 15 साल से सत्ता से कांग्रेस सत्ता के सिंहासन से दूर रही है। लेकिन इस बार बीजेपी का किला ध्‍वस्‍त हुआ है। इसी के साथ राज्य में मुख्‍यमंत्री चेहरे को लेकर कयास और सुगबुगाहट तेज हो गई है। कांग्रेस ने चुनाव से मुख्यमंत्री के लिए चेहरा घोषित नहीं किया था। ऐसे प्रदेश में पार्टी के दो सबसे बड़े चेहरे कमलनाथ और ज्‍योतिरादित्‍य सिंध‍िया, दोनों के नाम पर समर्थक मुहर लगा रहे हैं। ऐसे में देखना दिलचस्‍प होगा कि पार्टी किसे सीएम पद देती है।

हालांकि, मानकर यह भी चला जा रहा है कि कमलनाथ को मुख्‍यमंत्री, जबकि ज्‍योतिरादित्‍य सिंध‍िया को उप मुख्‍यमंत्री का पद मिल सकता है। ग्‍वालियर के सिंध‍िया राजघराने से ताल्‍लुक रखने वाले ज्‍योतिरादित्‍य युवा हैं और पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी के करीबी हैं। लोकसभा में गुना सीट से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया राजनीति के अलावा शूटिंग, क्रिकेट, आर्चरी और कार रेसिंग का शौक भी रखते हैं।

दुनिया की 50 सबसे खूबसूरत महिलाओं में है पत्‍नी

बेटे महाआर्यमन के साथ प्रियदर्शनी राजे सिंध‍िया
साल 1971 में 1 जनवरी के दिन पैदा हुए ज्योतिरादित्य की पत्नी प्रियदर्शनी राजे सिंध‍िया है। प्रियदर्शनी दुनिया की 50 सबसे खूबसूरत महिलाओं की सूची में जगह बना चुकी हैं। ज्योतिरादित्य और प्रियदर्शनी की शादी 12 दिसंबर 1994 को हुई थी। प्रियदर्शनी बड़ौदा के गायकवाड़ घराने की राजकुमारी हैं। दोनों का एक बेटा महाआर्यमन है और बेटी का नाम अनन्याराजे है।

हार्वर्ड और स्‍टैनफोर्ड से की है पढ़ाई

ज्‍योतिरादित्‍य युवा हैं, लिहाजा उनकी फिटनेस से लेकर लाइफस्टाइल तक सबकुछ युवाओं को काफी प्रेरित करता है। ज्‍यातिरादित्‍य ने 1993 में हावर्ड यूनिवर्सिटी से इकॉनोमी की डिग्री ली है। जबकि 2001 में उन्होंने स्टैनफोर्ड ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस से एमबीए की डिग्री हासिल की। पढ़ाई के बाद वह अमेरिका में ही साढ़े चार साल तक काम किया है। उनके पास लिंच, संयुक्त राष्ट्र, न्यूयॉर्क और मार्गेन स्टेनले में काम का अनुभव है।

पिता के निधन के बाद आए सक्रिय राजनीति में

राजपरिवार और राजनीतिक घराने से होने के कारण ज्‍यातिरादित्‍य बचपन से ही राजनीति को समझते रहे हैं। जबकि पिता माधवराव सिंधिया के निधन के बाद वह सक्रिय राजनीति में आए। 30 सितंबर 2001 को विमान हादसे में माधवराव सिंध‍िया का निधन हो गया था। फरवरी 2002 में गुना सीट पर उपचुनाव जीतकर ज्‍योतिरादित्‍य लोकसभा पहुंचे, वहीं 2004 में हुए लोकसभा चुनाव में इसी सीट से वह दोबारा चुने गए।

400 कमरों का महल, 40 कमरों में

केंद्र में जब कांग्रेस नीत मनमोहन सिंह की सरकार थी, तब 28 अक्टूबर 2012 से 25 मई 2014 तक ज्‍योतिरादित्‍य केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। राजघराने से ताल्‍लुक रखने के कारण ज्‍योतिरादित्‍य की संपत्त‍ि और उनकी जीवनशैली सपनों जैसी ही है। वह 400 कमरे वाले शाही महल में रहते हैं। 1874 में यूरोपियन शैली में उनके निवास यानी महल का नाम जयविलास पैलेस है। इस शाही महल के 40 कमरों में अब म्यूजियम है। जबकि महल की सीलिंग पर सोने जड़े हुए हैं।

दरबार हॉल में लगे हैं दो भव्‍य झूमर

जयविलास पैलेस की भव्‍यता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसका रॉयल दरबार हॉल 100 फीट लंबा, 50 फीट चौड़ा और 41 फीट ऊंचा है। इसकी छत से 140 वर्षों से 3500 किलो के दो झूमर लटके हैं। इन झूमरों को बेल्जियम के कारीगरों ने बनाया था। पैलेस के डाइनिंग हॉल में चांदी की ट्रेन है, जो खाना परोसने के काम आती थी।

सिंधिया घराने का भव्य महल 1874 में बनकर तैयार हुआ था। उस समय इस महल की कीमत करीब 1 करोड़ (200 मिलियन डॉलर) रुपये आंकी गई थी। इसका निर्माण नाइटहुड की उपाधि से सम्मानित सर माइकल फिलोसे ने किया था। बताया जाता है कि महल में भारी-भरकम झूमर लगान से पहले माइकल फिलोसे ने महल की छत पर हाथियों को चढ़ाकर देखा था कि यह कितना वजन सह सकता है।

32 करोड़ रुपये की है संपत्त‍ि

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान जो चुनावी हलफनामा दिया था, उसके मुताबिक उनके पास 32 करोड़ 64 लाख 18 हजार 4 सौ 12 रुपये की संपत्त‍ि थी।

बेटा अमेरिका तो बेटी दिल्‍ली से कर रही पढ़ाई

अपने पिता के कदमों पर आगे बढ़ते हुए ज्योतिरादित्य के बेटे महाआर्यमन सिंधिया ने भी दून स्कूल, देहरादून से पढ़ाई की है। फिलहाल वे अमेरिका की येल यूनिवर्सिटी में मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रहे हैं। महाआर्यमन का जन्म 1995 में हुआ था। बेटी अनन्या का जन्म अप्रैल 2002 में हुआ था। वह दिल्ली के ब्रिटिश स्कूल से पढ़ाई कर रही हैं। पिता की तरह अनन्‍या को भी हॉर्स राइडिंग और एडवेंचर स्पोर्ट्स का शौक है।