सुरत : GPSC द्वारा गुजरात में 543 उम्मीदवारों पास हुए थे । युवा वकील मेहनत और लगन से उम्मीदवारों ने GPSC के लिए मेहनत करते है । लेकिन परीक्षा पास होने के बाद पोस्टिंग नहीं मिलने से निराशा का सामना करना पड़ रहा है । असिस्टेन्ट पब्लिक प्रोसिक्यूटर वर्ग -2 की परीक्षा 4 जुलाई 2016 के दिन सूरत के 23 सहित गुजरात के 543 उम्मीदवारों पास हुई थे । लेकिन अभी तक उनके हाथ में कुछ नहीं ।

सरकारी वकील की कमी के कारण केस पेंडिंग और बिलंब

गौरतलब है कि एक तरह सरकारी वकील की कमी के कारण केस पेंडिंग होते जा रहे है वही दूसरे ओर कोर्ट में जो सरकारी वकील है उनके उपर भार होता है जा रहा है । सरकारी वकील की कमी के कारण केस में बिलंब और जनता को परेशानी का सामना करना पड़ता है । सरकारी वकील की कमी के कारण कोर्ट मे कितने केस पेंडिंग है । सरकारी अगर मौके पर ही भर्ती प्रक्रिया पूरी कर दी होती तो पेंडिंग केस का निकाल कब का हो गया होता है ।

असफल उम्मीदवार द्वारा भर्ती विरुद्ध हाईकोर्ट में रिट करने से उनकी भर्ती पर स्टे कर दिया गया था ।

गुजरात राज्य में सरकारी वकील भर्ती में 543 उम्मीदवार के हाथ खली, जबकि थोड़े समय पहले G डिवीजन बेंच ने आदेश दिया था कि सरकारी वकीलों के अभाव के कारण निचली अदालत में केसों लगातार बढ़ोतरी हो रही है । जिसके कारण सामान्य जनता के साथ अन्याय हो रहा था । इस आदेश के बाद स्टे हटा देने के बाद भी राज्य सरकार अभी तक उम्मीदवारों के लिए कोई निर्णय नहीं लिया है । वकीलों द्वारा अक्षेप लगाया गया है कि सरकार क्यों देरी कर रही है । हाल सूरत में 16 उम्मीदवारो का वेरिफिकेशन भी हो चुका है उसके वाजूद भी अभि तक उन्हें जगह नहीं दिया गया है ।