गुजरात नोन्सटॉप , नई दिल्ली: गुजरात केडर के आईपीएस अधिकारी सीबीआई स्पेशल डारेक्टर राकेश अस्थाना रिश्वत के आरोप में मुश्किल बढ़ती नजर आ रही है । दिल्ली हाई कोर्ट ने आज शुक्रवार को राकेश अस्थाना के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने की अर्जी को नामंजूर कर दिया । जिससे अब रिश्वत लेने के मामले में अस्थाना के खिलाफ जाँच सुरु होगी ।

मिली जानकारी के मुताबिक गुजरात केडर के आईपीएस और सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थस्ना तथा सीबीआई के डीवाईएसपी देवेंद्र कुमार के सामने सीबीआई के तत्कालीन बने अलोक वर्मा के आदेश से मांस व्यापारी मोइन कुरेसी के पास से 2 करोड़ रूपये की रिश्वत लेने के आरोप में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज करने की जानकारी दी थी । मनी लॉन्ड्रिंग केस की जाँच में मांस ब्यापारी मोईन कुरेशी के पास से यह रकम लेने का आरोप है । जिससे सीबीआई द्वारा राकेश अस्थाना और देवेंद्र कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी । हालांकि राकेश अस्थाना ने इस केस को फर्जी बताते हुए एफआईआर को रद्द करने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में अपील की थी ।

दिल्ली हाई कोर्ट ने राकेश अस्थाना की अर्जी पर फैसला सुनाते हुए आज अर्जी को रद्द कर दिया था । गौरतलब है की राकेश अस्थाना के खिलाफ 2 करोड़ रूपये की रिश्वत मामले में जाँच करने का आदेश देने के बाद राकेश अस्थाना की मुश्किल बढ़ सकती है ।