सुुुरत। इंडियाज गोट टेलेंट शो में ट्रक खिंचकर देशभर में मशहूर हुई राजलक्ष्मी नरेन्द्र मोदी फिरसे प्रधानमंत्री बने इसलिए बूलेट पर भारत की यात्रा पर निकली है। राजलक्ष्मी शुक्रवार को सूरत आ पहुंची। शनिवार को उन्होंने यात्रा आगे बढाई, तब उन्हें ग्रीनमैन ऑफ गुजरात विरल देसाई ने हरी झंडी दिखाई। यह यात्रा टीम भारत संगठन की ओर से आयोजित की गई है। यह संगठन राजनीति से परे रह कर सामाजिक और रचनात्मक कार्य करता है। टीम भारत की अग्रणी दीप्ती संघवी ने बताया कि राजलक्ष्मी को अलग- अलग शहरों फ्लैग ऑफ देने के लिए ऐसे लोगों को चुना जा रहा है कि जिन्होंने समाज और युवाओं के लिए अनोखे कार्य किए हो। विरल देसाई से उनकी मुलाकात वाइब्रेंट गुजरात समिट में हुई,जहां विरल देसाई को लगातार चौथी बार अवार्ड दिया गया। सूरत के विरल देसाई ग्रीनमैन ऑफ गुजरात के तौर पर जाने जाते है। प्रधानमंत्री ने लिखी एक किताब में भी विरल देसाई का जिक्र किया गया है।

गौरतलब है कि राजलक्ष्मी को भी नरेन्द्र मोदी ने मिलने बुलाया था और उनकी इस यात्रा को शक्तियात्रा नाम दिया था। यह शक्तियात्रा 13 राज्यों से गुजरते हुए और 16000 किलो मीटर का सफर तय कर 56 दिन में पुरी होगी। राजलक्ष्मी के सूरत पहुंचने के बाद शनिवार सुबह 9 बजे कतारगाम स्थित जेनिटेक्स मिल के गेट से विरल देसाई ने फ्लैग ऑफ देकर रवाना किया। इस अवसर पर मोदी से इन्स्पायर कहानी पर आधारीत गुजराती फिल्म ‘हुं नरेन्द्र मोदी बनवा मांगु छुं’ की टीम ने भी मौजूद रह कर राजलक्ष्मी का उत्साह बढाया।