डेस्क : भारत इससे पहले सीमा पार जाकर आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर चुका है और भारत ने आंतकवाद के खिलाफ लड़ाई को निर्णायक स्तर पर ले जाने का प्रण किया है.

पुलावामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के बीच पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने भारत पर LoC के उल्लंघन का आरोप लगाया है. पाकिस्तानी सेना की ओर से दावा किया जा रहा है कि भारतीय वायु सेना के विमानों ने बीती रात पाकिस्तान की सीमा में घुसकर सीजफायर तोड़ा है ।हालांकि भारत की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है ।

इधर, वायुसेना के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भारत के 12 मिराज-2000 विमानों ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकी संगठन जैश के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुबह 3.30 बजे 1000 किलो विस्फोटक को विमानों के टारगेट पर गिराया गया है. इस कार्रवाई के बाद सीमा के दोनों पर तनाव बढ़ गया है और अब वायुसेना का अलर्ट पर रखा गया है ।

वायुसेना और रक्षा मंत्रालय अब से कुछ देर बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपना रुख साफ कर सकता है, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक LoC के पार जाकर वायुसेना ने बालाकोट, मुजफ्फराबाद, चकोटी के इलाके में इस एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया है ।भारत इससे पहले सीमा पार जाकर आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर चुका है और भारत ने आंतकवाद के खिलाफ लड़ाई को निर्णायक स्तर पर ले जाने का प्रण किया है

फ़ास्ट टाइम IAF का इस्तेमाल

अगर पाकिस्तानी सेना का दावा ठीक है तो यह पहला मौका है कि दोनों मुल्कों के बीच सीजफायर ऐलान के बाद शांतिकाल में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अपनी वायुसेना का इस्तेमाल किया है. पाकिस्तान की ओर से जिस बालाकोट के इलाके में IAF विमानों की उड़ान का आरोप लगाया गया है वहां सबसे ज्यादा आतंकी लॉन्च पैड बताए जा रहे हैं, साथ ही इसी इलाके में पीरपंजाल की तरफ 2-3 सबसे बड़े आतंकी लॉन्च पैड हैं. अगर भारत वायु सेना इस कार्रवाई की पुष्टि करती है तो यह आतंकियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई मानी जाएगा।

पुलवामा में 40 CRPF जवानों की शहादत के बाद भारत ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के संकेत दिए हैं, यहां तक की बीते दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तक यह कह चुके हैं कि मौजूदा माहौल को देखते हुए भारत कुछ बड़ा करने वाला है, इंडिया टुडे को मिली जानकारी के मुताबिक भारत सेना जल्द इस आरोप पर अपनी स्थिति स्पष्ट करने वाली है.

घुसपैठ ठिकानों को बड़ा नुकसान

पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों के पर एयर स्ट्राइक का फैसला सबसे मारक साबित हो सकता है क्योंकि सर्जिकल स्ट्राइल या थल सेना की कार्रवाई काफी मुश्किल मानी जाती है और इसमें सफलता उतने बड़े स्तर पर मिल पाना मुश्किल है. ऐसे में अपने लड़ाकू विमानों के जरिए आतंकी ठिकानों को निशाना बनाना पाकिस्तान को सबक सिखाने का एक बेहतर विकल्प हो सकता है ।