सुरत : शहेर में हनी ट्रेप की शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस कमिश्नर तथा संयुक्त पुलिस कमिश्नर तथा नायब पुलिस कमिश्नर द्वारा सूचना के आधार पर कपोदरा पुलिस इंस्पेक्टर तथा उनकी टीम के साथ थाने में हाजिर थे, उसी दौरान शिकायत कर्ता थाने में आकार जानकारी दी कि जयश्री उर्फ गुड्डी तथा विजय बैराया और ओमकार गोश्वामी सभी ने मिलकर बैलक्मेलिंग कर उनके साथ लोखंड से वार किया जिससे वह जख्मी हो गई । यही नही उसे मार डालने की धमकी देकर उनके मोबाईल में मेरा विभत्स वीडियो उतार कर 5 लाख की फिरौती मांगी ।

दो पुरुष एक महिला कैसे आई पुलिस की शिकंजे में

शहेर में लोगो को अपनी ओर आकर्षित कर उनके साथ फोटोशूट कर उनको ब्लैकमेल करने का खेल चल रहा था ।लेकिन उन्हें पता नही था । कि इस बार उनका मुकाबला किससे पड़ा हुआ है । शिकायत कर्ता के गले मे पहने हुए चैन तथा पेंडल तथा कैश 26 हजार ले लिया, इसके अलावा HDFC बैंक का एटीएम कार्ड लेकर उसका पासवर्ड की मांग कर रहे थे । नही देने पर उन्हें लोखंड के कड़े से मार – मार कर उन्हें धमकी देकर शिकायत कर्ता के पास से पासवर्ड लेकर उसके एटीएम से 70 हजार रुपये कैश निकाल लिया, उसके बाद भी उनका पेट नही भर तो शिकायत कर्ता के नग्न वीडियो को वायरल करने की धमकी दे डाली और 5 लाख की फिरौती की मांग की ।

शिकायत कर्ता पैसे नही देने के बदले वह सीधा पुलिस को संपर्क किया । शिकायत कर्ता की शिकायत के आधार पर पुलिस इंस्पेक्टर एम.के.गुर्जर के सूचना के आधार पर टीम गठित किया । शिकायत कर्ता को साथ मे रखकर निगरानी में टीम वाच में थी । उसी दौरान घटना को अंजाम देने वाले आरोपी जयश्री उर्फ गुड्डी तथा विजय बैराया तथा ओमकार गोश्वामी द्वारा मांग किये गए 5 लाख रुपए लेने आ पहुँचे उसी दौरान पूरी टीम के साथ तीनो आरोपियों को धर दबोचा । ट्रेप करने में पुलिस सक्षम रही जिससे आरोपियो के पास से मामाले में गए रुपये 1- लाख 41 हजार रुपये मुद्दामाल कब्जा करके एक मुकाम हाशिल किया । पुलिस के इस काम सराहनीय नजर देखा गया ।

आरोपियो का एम.ओ का पूरा सच

हनी ट्रेप और लूट मामले में आरोपियो ने एक दूसरे का साथ देकर क्राइम को अंजाम दिया । इसके अलावा महिला आरोपी लोगो को एकांत में बुलाकर उनके साथ अश्लील वीडियो और फ़ोटो लेकर वायरल और बदनाम करने की धमकी देकर सभी आरोपियों ने मिलकर लोगो के पैसे और गहने को लूट करने में मास्टरी की है । शहेर की जनता इनके प्रति सतर्क रहें और सुरक्षित रहे ।।

हाल इस मामले की तहकीकात पुलिस इंस्पेक्टर एम.के.गुर्जर के सूचना मरहदर्शन के आधार पर पुलिस सब इंस्पेक्टर बी.एम.करमाटा तथा पुलिस सब इंस्पेक्टर एच. एल.कड़छा एवं ए. यस.आई मयूरिबेन हिम्मतलाल तथा ये.यस.आई रमेश भाई हरीभाई पुलिस हेड कॉन्स्टेबल कमलेश भाई प्रवीण भाई,विजय कुमार भारत सिंह,आकाश भाई बाबु भाई, पृथिवीराज सिंह रवजीभाई, अरविंद भाई लालजीभाई, भागीरथसिंह घनश्यामभाई द्वारा टीम वर्क से किया गया ।