पीएमओ ने कहा है कि प्राइम मिनिस्टर के ऑफिशियल एेप ‘पीएमओ इंडिया’ को मायगॉव कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने वाला पार्टिसिपेंट्स ने ही डेवलप किया था।

 नई दिल्ली. प्राइम मिनिस्टर्स ऑफिस (PMO) ने एक आरटीआई के जवाब में कहा है कि नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया अकाउंट के मेंटेनेंस पर कोई खर्च नहीं किया जाता। यह आरटीआई ‘आप’ लीडर और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया ने दायर की थी।
क्या है मामला…
बाकी अकाउंट भी पीएमओ से ही मेंटेन
पीएमओ ने आरटीआई के जवाब में कहा- सोशल मीडिया के दूसरे प्लेटफॉर्म पर पीएम की मौजूदगी भी पीएमओ ही देखता है और इन पर अलग से कोई खर्च नहीं किया जाता।
एक खास बात जो आरटीआई के जवाब में कही गई है वो ये कि पीएमओ सोशल मीडिया पर किसी तरह का और कोई कैम्पेन नहीं चलाता।
बता दें कि सिसौदिया ने आरटीआई में पूछा था कि मोदी के पीएम बनने के बाद सोशल मीडिया पर हर साल कितना खर्च किया गया।
इसके जवाब में पीएमओ ने कहा- फेसबुक, ट्विटर, यू ट्यूब, गूगल या जीमेल पर कोई भी सोशल मीडिया कैम्पेन पीएमओ की तरफ से नहीं चलाया जाता। हां, इनके अकाउंट जरूर पीएमओ से मेंटेन किया जाता है।
इसमें ये भी कहा गया है कि पीएमओ इंडिया ऐप गूगल प्लेस्टोर पर अवेलेबल है।