धनबाद (झारखंड)
गैंग्स ऑफ वासेपुर का सरगना और कुख्यात डॉन फहीम खान एक दिन के पेरोल पर सोमवार को जेल से बाहर आया। उसे कड़ी सुरक्षा के बीच जमशेदपुर के घाघीडीह जेल से धनबाद लाया गया। झारखंड हाईकोर्ट ने उसे उसकी बेटी की शादी में भाग लेने के लिए फहीम खान को एक दिन का पेरोल दिया है।मिलने वालों की लगी रही भीड़…-फहीम खान के जेल से बाहर आने की सूचना पहले ही उसके समर्थकों को मिल गई थी।
फहीम खान जैसे ही वेन्यू पर पहुंचा उसके समर्थकों ने उसे घेर लिया ।
पुलिस ने काफी मशक्कत से उसे अपनी बेटी के पास पहुंचाया। इस दौरान किसी को भी फहीम खान से मिलने की इजाजत नहीं दी जा रही थी।- फहीम खान की बेटी नूर फातिमा की शादी रेलवे के ऑफिसर्स गेस्ट हाउस में हुई। लड़का मो. इमरान आर्किटेक है और वो भी वासेपुर का ही रहने वाला है।- बेटी से मिलने के बाद पुलिस ने फहीम खान को वापस जमशेदपुर भेज दिया। फहीम खान इन दिनों जेल में एक मर्डर केस में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है।कौन है फहीम खान-फहीम खान वासेपुर का कुख्यात डॉन है। इसे यहां का सरगना कहा जाता है। इस पर सैकड़ों हत्याओं का आरोप है।
कोयला खदानों में वासेपुर के कई मजदूर काम करते हैं, जिसपर फहीम खान राज करता है। -फहीम खान की अदावत यहां के शक्तिशाली माने जाने वाले घराने सिंह मेंशन और रघुकुल से भी है। फहीम खान पर कांट्रैक्ट किलिंग के भी आरोप हैं। -फहीम फिलहाल मर्डर के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है। फहीम पर लूट, हत्या, अपहरण, बमबाजी, रंगदारी समेत कई अन्य मामले धनबाद के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। -फहीम खान का बेटा भी धनबाद के एक रेलवे ठेकेदार की हत्या मामले में जेल में बंद है। फहीम खान पर वासेपुर के एक कपड़ा व्यवसायी मोहम्मद वाहिद आलम उर्फ जावेद की हत्या का भी आरोप है।
मारा गया मो. वाहिद धनबाद के शातिर अपराधी साबिद आलम का भाई था। साबिद और फहीम के बीच वर्चस्व को लेकर गैंगवार होता रहता था। -गैंगवार में मो. वाहिद और साबिद आलम गुट पर मो. फहीम की मां और उसकी मौसी की हत्या का आरोप था। -वाहिद ने फहीम पर भी अटैक बोला था। गैंग्स ऑफ वासेपुर के एक बम कांड में वाहिद का हाथ उड़ चुका था। -बॉलीवुड फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर पार्ट-2 में फहीम खान का किरदार फैसल खान के रूप में दिखाया गया है।