मोहाली.
IPL-10 के 33rd मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने किंग्स इलेवन पंजाब को 26 रन से हरा दिया। 208 रन के टारगेट का पीछा करते हुए पंजाब की टीम ने 20 ओवरों में 181/9 रन ही बना सकी। पंजाब की ओर से शॉन मार्श ने सबसे ज्यादा 84 रन बनाए। हैदराबाद के लिए आशीष नेहरा और सिद्धार्थ कौल ने 3-3 विकेट लिए। इससे पहले हैदराबाद ने 20 ओवरों में 207/3 रन बनाए थे।
कैसे गिरे पंजाब के विकेट…
 पंजाब की टीम को पहला झटका 2.2 ओवर में 26 रन के स्कोर पर लगा। जब भुवनेश्वर कुमार ने मार्टिन गुप्टिल (23) को एम. हेनरिक्स के हाथों कैच करा दिया।
अगले ही ओवर में दूसरा विकेट भी गिर गया। जब 3.5 ओवर में आशीष नेहरा की बॉल पर मनन वोहरा (3) को सिद्धार्थ कौल ने कैच कर लिया।
सिद्धार्थ कौल ने पंजाब को तीसरा झटका दिया। 4.6 ओवर में उन्होंने ग्लेन मैक्सवेल (0) को आशीष नेहरा के हाथों कैच करा दिया। इस वक्त टीम का स्कोर 42 रन था।
चौथा विकेट 13.1 ओवर में राशिद खान को मिला। उन्होंने इयॉन मोर्गन (26) को दीपक हुडा के हाथों कैच करा दिया।
आउट होने से पहले मोर्गन ने शॉन मार्श के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 49 बॉल पर 73 रन की पार्टनरशिप की।
पांचवा विकेट रिद्धिमान साहा का रहा। उन्हें 14.6 ओवर में सिद्धार्थ कौल ने बोल्ड कर दिया। इस वक्त स्कोर 138 रन था।
पंजाब को छठा झटका 15.4 ओवर में शॉन मार्श (84) के रूप में लगा। वे भुवनेश्वर की बॉल पर दीपक हुडा को कैच दे बैठे।
सातवां विकेट 17.4 ओवर में अक्षर पटेल (16) का रहा। वे सिद्धार्थ कौल की बॉल पर वॉर्नर के हाथों कैच आउट हुए।
 शॉन मार्श ने लगाई फिफ्टी
 एक तरफ लगातार गिरते विकेटों के बीच शॉन मार्श ने पंजाब के लिए शानदार बैटिंग की। वे 50 बॉल पर 84 रन बनाकर आउट हुए।
मार्श ने अपनी इनिंग में 14 चौके और 2 सिक्स भी लगाए। उन्होंने अपने 50 रन 36 बॉल पर पूरे किए थे।
 कैसी रही थी हैदराबाद की इनिंग
 टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने 20 ओवरों में 3 विकेट खोकर 207 रन बनाए।
हैदराबाद के लिए शिखर धवन ने 77, केन विलियम्सन ने 54* और डेविड वॉर्नर ने 51 रन की इनिंग खेली।
पंजाब की ओर से ग्लेन मैक्सवेल ने 2 और मोहित शर्मा ने 1 विकेट लिया।
ऐसे गिरे हैदराबाद के विकेट
 टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी हैदराबाद को शिखर धवन और डेविड वॉर्नर ने शानदार शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 107 रन की पार्टनरशिप की।
हैदराबाद की टीम को पहला झटका 9.6 ओवर में लगा। जब पंजाब के कप्तान ग्लेन मैक्सवेल ने हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर (51) को बोल्ड कर दिया।
शिखर धवन (77) आउट होने वाले दूसरे बैट्समैन रहे। वे 14.2 ओवर में मोहित शर्मा की बॉल पर मैक्सवेल को कैच दे बैठे। इस वक्त टीम का स्कोर 147 रन था।
17.1 ओवर में तीसरा विकेट युवराज सिंह (15) का गिरा। जो ग्लेन मैक्सवेल की बॉल पर अक्षर पटेल के हाथों कैच आउट हुए। केन विलियम्सन और एम. हेनरिक्स नॉट आउट रहे।
 फिफ्टी लगाकर आउट हुए वॉर्नर
 मैच में हैदराबाद के लिए ओपनिंग करने उतरे कप्तान डेविड वॉर्नर ने शानदार फिफ्टी लगाई। वे 27 बॉल पर 51 रन बनाकर आउट हुए।
अपनी इनिंग के दौरान उन्होंने 4 चौके और 4 सिक्स भी लगाए। अपने 50 रन उन्होंने 25 बॉल पर पूरे किए थे।
 धवन ने भी लगाई फिफ्टी
 दूसरे ओपनर शिखर धवन ने भी फिफ्टी लगाई। वे 48 बॉल पर 77 रन बनाकर आउट हुए।
धवन ने अपनी इनिंग में 9 चौके और 1 सिक्स लगाया। उन्होंने अपने 50 रन 31 बॉल पर पूरे किए थे।
 विलियम्सन ने भी लगाई फिफ्टी
 वॉर्नर के आउट होने के बाद बैटिंग करने आए केन विलियम्सन ने भी शानदार बैटिंग करते हुए फिफ्टी लगाई।
विलियम्सन 27 बॉल पर 54* रन बनाकर नॉट आउट रहे। अपनी इनिंग में उन्होंने 4 चौके और 2 सिक्स भी लगाए।
केन ने शिखर धवन के साथ 40, युवराज के साथ 24 और हेनरिक्स के साथ 36* रन की पार्टनरशिप की।